Header Ads

Economy of Rajasthan-Macro overview of Economy in hindi

राजस्थान की अर्थव्यवस्था- अर्थव्यवस्था का वृहत् परिदृश्य 

राजस्थान भारत का सबसे बड़ा राज्य है और इसका क्षेत्रफल 3 लाख 42 हजार 239 वर्ग किलोमीटर है.
प्रशासनिक रूप से यह 7 संभागों, 33 जिलों, 295 पंचायत समितियों और 9 हजार 894 ग्राम पंचायतों में विभक्त है.
राजस्थान की अर्थव्यवस्था मुख्य रूप से कृषि पर आधारित है. 
राजस्थान का आर्थिक विकास सकल घरेलू उत्पाद को आधार बनाकर मापा जाता है.
आम तौर पर प्रदेश की आर्थिक स्थिति को मापने के लिए राज्य की सीमा में एक वर्ष में अंतिम रूप से उत्पादित वस्तुओं और सेवाओं के कुल मौद्रिक मूल्य को सकल घरेलू उत्पाद के तौर पर जोड़ा जाता है.
वर्ष 2016-17 के अग्रिम अनुमानों के अनुसार प्रचलित कीमतों पर सकल घरेलू उत्पाद अनुमान 7 लाख 49 हजार 692 करोड़ अनुमानित किया गया है। 
वर्ष 2015-16 में अग्रिम अनुमानों के अनुसार प्रचलित कीमतों पर सकल घरेलू उत्पाद अनुमान 6 लाख 72 हजार 707 करोड़ अनुमानित किया गया था.



इस गणना के हिसाब से वर्ष 2016-17 में राज्य के सकल घरेलू उत्पाद में 11.44 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई है.
राज्य के सकल मूल्य संवर्द्धन में कृषि क्षेत्र का 26.49 प्रतिशत, उद्योग का 26.89 प्रतिशत और सेवाओं में 46.62 प्रतिशत का योगदान है. (प्रचलित कीमतों पर)
2016-17 में राजस्थान में (2011-12) की स्थिर कीमतों पर प्रति व्यक्ति आय 69 हजार 730 रूपये सालाना और प्रचलित कीमतों पर 90 हजार 447 रूपये सालाना है.
राजस्थान में कृषि वर्ष 2016-17 के दौरान खाद्यान्न का कुल उत्पादन 213.12 लाख मैट्रिक टन होने की सम्भावना थी, जो कि कृषि वर्ष 2015-16 के 182.98 लाख मैट्रिक टन की तुलना में 16.47 प्रतिशत की वृद्धि को दर्शाता है।
राज्य में बैंकिंग का अच्छा विकास हुआ है और राजस्थान में सितम्बर 2016 तक 6822 बैंक कार्यालय और शाखाएं हैं जिनमें से 2827 राष्ट्रीयकृत बैंक, 1546 स्टेट बैंक आॅफ इंडिया, 1460 क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक, 983 निजी क्षेत्र के बैंक और 6 विदेशी बैंक की शाखाएं हैं।



राजस्थान में आर्थिक विकास के मुख्य सूचक
(पिक्चर को बड़ा करने के लिए उस पर क्लिक करें:)


आरएएस प्री परीक्षा 2016 में राजस्थान की अर्थव्यवस्था पर पूछे गए प्रश्नः

1.राजस्थान थोक मूल्य सूचकांक का आधार वर्ष हैः
अ. 1986-87
ब. 1999-2000
स. 2004-05
द. 2011-12

उत्तरः ब. 1999-2000

2.राजस्थान की 12वीं पंचवर्षीय योजना में कृषि, उद्योग और सेवा क्षेत्रों के लिए वृद्धि के लक्ष्य क्रमशः निर्धारित हैः
अ. 3.5 प्रतिशत, 8.0 प्रतिशत और 9.5 प्रतिशत
ब. 4.0 प्रतिशत, 8.0 प्रतिशत और 9.0 प्रतिशत
स. 4.0 प्रतिशत, 8.5 प्रतिशत और 9.0 प्रतिशत
द. 3.5 प्रतिशत, 8.5 प्रतिशत और 9.5 प्रतिशत

उत्तरः अ. 3.5 प्रतिशत, 8.0 प्रतिशत और 9.5 प्रतिशत

Powered by Blogger.