Header Ads

Important Announcements during Resurgent Rajasthan in hindi for RAS mains exam

Important Announcements during 

Resurgent Rajasthan

रिसर्जेन्ट राजस्थान में हुईं महत्वपूर्ण घोषणाएं

रिसर्जेण्ट राजस्थान समिट के दौरान केन्द्र सरकार की ओर से अनेक महत्वपूर्ण घोषणाएं हुईं जो इस सम्मेलन की सफलता और महत्ता की द्योतक हैं।

केन्द्रीय रसायन एवं उर्वरक मंत्री श्री अनंत कुमार-

झालावाड़ में 500 करोड़ रुपये के निवेश से नेशनल इंस्टीट्यूट आॅफ फार्मा एज्युकेशन एण्ड रिसर्च (नाइपर) की स्थापना की जायेगी।
जयपुर में सेंट्रल इंस्टीट्यूट आॅफ प्लास्टिक इंजीनियरिंग टेक्नोलाॅजी (सीपेट) को 100 करोड़ रुपये के निवेश से अपग्रेड किया जायेगा। इससे इस संस्थान में 5000 विद्यार्थी अध्ययन कर सकेंगे। संस्थान में एमटेक एवं बीटेक कोर्सेज आरम्भ किये जायेंगे।
प्रदेश में जिप्सम खनन क्षेत्र में 300 करोड़ रुपये का निवेश होगा तथा चित्तौड़गढ़ में 100 करोड़ की लागत से सिंगल सुपर फास्फेट संयंत्र स्थापित होगा।
सरकार अलवर के भिवाड़ी क्षेत्र में 1000 करोड़ रुपये के निवेश से मेडिकल डिवाईसेज पार्क स्थापित करने पर विचार करेगी। ऐसे पार्क देश में पहली बार स्थापित होंगे।

रेल मंत्री श्री सुरेश प्रभु-

रेल मंत्रालय द्वारा राजस्थान में 24 रेलवे स्टेशनों को माॅडल रियल स्टेट आइकाॅन के रूप में विकसित किया जायेगा।
केन्द्रीय ऊर्जा राज्यमंत्री श्री पीयूष गोयल-
जयपुर शहर को वल्र्ड क्लास बनाने की दिशा में विद्युत सुदृढ़ीकरण के लिये आईपीडीएस योजना के तहत 325 करोड़ रुपये दिये जायेंगे। इसमें विद्युत तंत्र को मजबूत किया जायेगात था विद्युत केबल को भूमिगत किया जायेगा।

केन्द्रीय एमएसएमई मंत्री श्री कलराज मिश्र

राज्य के समस्त जिला मुख्यालयों पर लाइव बिजनिस इन्क्यूबेशन सेंटर (एलबीआई सेंटर) खोले जायेंगे। एलबीआई सेंटर में युवाओं को सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग स्थापित करने के लिये प्रोजेक्ट रिपोर्ट बनाने, बैंकों से ऋण उपलब्ध कराने में सहयोग दिया जायेगा तथा उद्योग स्थापित करने के लिये प्रशिक्षण दिया जायेगा। हर सेंटर पर लगभग 1 करोड़ रुपये की लागत से छोटे उद्योगों की मशीनें स्थापित की जायेंगी ताकि युवाओं को समुचित प्रशिक्षण दिया जा सके।

केन्द्रीय उद्योग एवं वाणिज्य राज्यमंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमण-

राजस्थान में नेशनल इंस्टीट्यूट आॅफ डिजाइन का सैटेलाइट सेंटर आरम्भ किया जायेगा। बाद में इसे स्वतंत्र संस्थान के रूप में विकसित किया जायेगा।

गृह एवं कानून मंत्री सिंगापुर-


सिंगापुर और जयपुर के बीच सीधी हवाई सेवा आरम्भ की जायेगी।


सभी नोट्स डाउनलोड करने के लिये क्लिक करें:
Powered by Blogger.